Recent Articles

Download The Free Android App രജി മാഷ്‌


रिज़ल्ट के दिन साहिल की डायरी।




फुलेरा
तारीख

आज पाँचवीं के रिज़ल्ट का दिन था। मैं और बेला हम दोनों पास हो गए। लेकिन मन उदास है। क्योंकि कल से बेला से मिल नहीं पाएगा। अगले साल वह राजकीय कन्या पाठशाला में पढ़ेगी। घरवाले मुझे अजमेर भेज देंगे। घर से दूर, होस्टल में मुझे अकेला रहना पड़ेगा।

आज तक कितनी खुशी थी! बारिश में बेला के साथ बीरबहूटियों को खोजकर कितने दिन बिताए। कल से मैं किसके साथ लंगड़े का खेल खेलूँ? बेला भी दुखी होगी। क्या वह मुझे याद रखे? मेरा रिपोर्ट कार्ड देखते समय उसकी आँखों में आँसू आ गए। मेरा विश्वास है कि वह भी दुखी है। क्योंकि हमारी दोस्ती उतनी सख्त थी।

ദേശഭക്തിഗീതങ്ങള്‍